सर्वोच्च न्यायालय ने पक्ष में दिया निर्णय

बड़े बाबा के मन्दिर में पाषाण की जितनी भव्य प्रतिमा जी विशाल वेदी जी पर विराजित है, उसकी गरिमा के अनुरूप विशाल पाषाण का हज़ार -पन्द्रह सौ साल तक टिका रहने वाला कलात्मक मन्दिर का निर्माण कार्य तेज़ गति से चल रहा था। भगवान आदिनाथ जी के मन्दिर का निर्माण कार्य चलते न्यायालय में बाधाऐं पुरातत्व विभाग और कुछ लोगों के द्वारा उपस्थित कर दी गयी। प्रकरण सर्वोच्च न्यायालय तक ले जाया गया । आचार्य श्री को ९ मई को हुए फ़ैसले की जानकारी बतायी गयी कि सर्वोच्च न्यायालय ने पुरातत्व विभाग की याचिका ख़ारिज कर दी है ।

Download Android App Download iOS App